pehla pehla pyar

pehla pehla pyar

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

जान के भी अनजाना

कैसा मेरा यार है

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

pehla pehla pyar

उसकी नजर, पलकों के चिलमन से मुझे देखती, उनकी नजर

उसकी हया, अपनी ही चाहत का राज खोलती, उसकी हया

छुप के करे जो वफा, ऐसा मेरा यार है

ओ ओ ओ

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

जान के भी अनजाना

कैसा मेरा यार है

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

pehla pehla pyar

pehla pehla pyar

वो हैं निशा, वो ही मेरी जिन्दगी की भोर है, वो है निशा

उसे है पता, उसके ही हाथों में मेरी डोर है, उसे है पता

सारे जहाँ से जुदा, ऐसा मेरा यार है

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

जान के भी अनजाना

कैसा मेरा यार है

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

pehla pehla pyar

pehla pehla pyar

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

जान के भी अनजाना

कैसा मेरा यार है

पहला पहला प्यार है

पहली पहली बार है

pehla pehla pyar

ना जाने कब हुआ ना किसी को खबर है

ना खुद को पता खोये खोये रहते हम यहाँ है

सिलसिलो का सिलसिला है हुआ शुरू अब जो निकले भी जान

 

अब से हमराही चाहतों के

ये जैसे पहला नशा वो पहली नजर पहला गुमार

यूँ लगे मोहोब्बत ही जहाँ है

दोस्तों की दोस्ती यारों की यारी कम लगने लगी

बहके है हम बहका ये समा है

pehla pehla pyar

कैसे समझाऊ तुझमे

मेरा पहला पहला प्यार है ये ओ ओ ओ…

आँखों में ऐतबार है ये ओ ओ ओ…

आँखों में ऐतबार है ये ओ ओ ओ…

 

हवा भी मिली थी हमे झोंको  में पूछ रही थी

प्यार ये अगर नही तो फिर क्या है

ए आसमान तू भी आजकल संग चलता है

साथ लेके चंदा तारे

pehla pehla pyar

कैसे समझाऊ तुझमे

मेरा पहला पहला प्यार है ये ओ ओ ओ…

आँखों में ऐतबार है ये ओ ओ ओ…

आँखों में ऐतबार है ये ओ ओ ओ…

pehla pehla pyar

Leave a Reply